संबित पात्रा ने पूछा – अब बताओ शाहरुख़ को अनुराग मिश्रा बताने वाला पत्रकार कहाँ छिप गया

ठळक घडामोडी राष्ट्रीय

 दिल्ली हिंसा के दौरान पुलिसकर्मी पर पिस्टल तानने वाले शाहरुख को गिरफ्तार कर लिया गया हैदिल्ली की क्राइमब्रांच टीम ने

शाहरुख को उत्तर प्रदेश के शामली से गिरफ्तार किया हैफिलहालउससे पूछताछ की जा रही हैउसको पनाह देने वालेलोगों की

 तलाश भी शुरू हो गई है

इधर भाजपा नेता संबित पात्रा ने एक ट्वीट कर कहा कि वो कौन पत्रकार था जो शाहरुख़ को अनुराग मिश्रा साबित करने पर लगा था

उन्होंने फ़ोटो ट्वीट करते हुए लिखा – गौर से देख लोये शाहरुख़ हैकोई अनुराग मिश्रा नहीं जैसा कि कुछ तथाकथित पत्रकार बता रहे थे.

दिल्ली हिंसा के दौरान 24 फरवरी को जाफराबाद इलाके में एक शख्स ने 8 राउंड फायरिंग की थीइस शख्स ने फायरिंग के दौरान

एकपुलिस कर्मी पर पिस्टल भी तान दिया थाफायरिंग करते हुए यह शख्स फिर भीड़ में गायब हो गया था

इस शख्स की पहचान शाहरुखके रूप में हुई थी.

दिल्ली पुलिस कई दिनों से शाहरुख की तलाश कर रही थीबताया जा रहा था कि वह दिल्ली के थाना उस्मानपुर का रहने वाला है

लेकिन घटना के बाद से ही वह अपने परिवार के साथ फरार हो गया थादिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम उसकी तलाश में लगी थी.

 

क्राइम ब्रांच को खबर मिली कि शाहरुख शामली में छिपा हैइसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस और दिल्ली पुलिस ने मिलकर

 शाहरुख कोगिरफ्तार कर लिया हैफिलहाल उससे पूछताछ की जा रही हैइसके साथ ही शाहरुख के मददगारों की भी तलाश शुरू हो गई है.

शाहरुख ने दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल दीपक दहिया पर पिस्टल तानी थीदीपक दहिया ने आज तक से खास बातचीत में कहा

 थाकि शख्स सामने से फायरिंग करते हुए  रहा थादूसरे लोग उसकी फायरिंग की जद में   जाएंइसके लिए उन्होंने उसे बीच

 में हीरोक लिया.

जान जोखिम में डालने के सवाल पर हेड कॉन्स्टेबल दीपक दहिया ने कहा था कि सबसे पहले तो हमें हमारे पब्लिक की

जान बचानी है… हमें तो लग जाएगी यह तो बाद की बात हैपहले तो जिनके लिए नौकरी कर रहे हैंवे जरूरी हैं.

क्राइम ब्रांच को खबर मिली कि शाहरुख शामली में छिपा हैइसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस और दिल्ली पुलिस

 ने मिलकर शाहरुख कोगिरफ्तार कर लिया हैफिलहाल उससे पूछताछ की जा रही हैइसके साथ ही शाहरुख के

मददगारों की भी तलाश शुरू हो गई है.

शाहरुख ने दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल दीपक दहिया पर पिस्टल तानी थी.

दीपक दहिया ने आज तक से खास बातचीत में कहा थाकि शख्स सामने से फायरिंग करते हुए  रहा था

दूसरे लोग उसकी फायरिंग की जद में   जाएंइसके लिए उन्होंने उसे बीच में हीरोक लिया.

जान जोखिम में डालने के सवाल पर हेड कॉन्स्टेबल दीपक दहिया ने कहा था कि सबसे पहले तो हमें हमारे

पब्लिक की जान बचानी है… हमें तो लग जाएगी यह तो बाद की बात हैपहले तो जिनके लिए नौकरी कर रहे हैंवे जरूरी हैं.